महंगाई की मार, सब्सिडी वाला हो या बिना सब्सिडी वाला एलपीजी सिलेंडर, दोनों के दाम बढ़े

राजधानी दिल्ली में गैर सब्सिडी वाले रसोई गैस के दाम 60 रुपये बढ़कर 939.00 रुपये हो गया है और आर्थिक राजधानी मुंबई में इस सिलेंडर को लेने के लिए आपको 912 रुपये खर्च करने होंगे.

बीसीआर न्यूज़ (अजय शास्त्री/नई दिल्ली): आप सब्सिडी वाला सिलेंडर इस्तेमाल करते हैं या बिना सब्सिडी वाला एलपीजी सिलेंडर, आपके लिए बुरी खबर है. दोनों के दाम बढ़े हैं और दाम त्यौहारी सीजन में आपके रसोई के बजट को बिगाड़ सकता है. सब्सिडी वाले रसोई गैस सिलेंडर की कीमत 2.94 रुपये और बिना सब्सिडी वाले एलपीजी सिलेंडर का दाम 60 रुपये बढ़ाया गया है. बढ़े हुए दाम आज आधी रात से लागू हो जाएंगे.

GAS

आपके शहर में रसोई गैस के दाम
नई दिल्ली में सब्सिडी वाले रसोई गैस सिलेंडर के दाम 2.94 रुपये बढ़कर 505.34 रुपये पर जा पहुंचे हैं और देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में सब्सिडी वाला रसोई गैस सिलेंडर अब 503.11 रुपये पर मिलेगा. तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई में 14.2 किलोग्राम वाला घरों में काम आने वाला रसोई गैस सिलेंडर करीब 3 रुपये (2.94 रुपये) महंगा होकर 493.87 रुपये पर मिलेगा और कोलकाता में सब्सिडाइज्ड एलपीजी सिलेंडर 508.70 रुपये पर मिलेगा.

इसके अलावा गैर सब्सिडी वाला सिलेंडर के दामों में 60 रुपये प्रति सिलेंडर का भारी इजाफा किया गया है और इसकी कीमत 900 रुपये के पार हो गई है.

आपके शहर में गैर सब्सिडी वाले रसोई गैस के दाम
राजधानी दिल्ली में गैर सब्सिडी वाले रसोई गैस के दाम 60 रुपये बढ़कर 939.00 रुपये हो गया है और आर्थिक राजधानी मुंबई में इस सिलेंडर को लेने के लिए आपको 912 रुपये खर्च करने होंगे. पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में नॉन सब्सिडी वाला एलपीजी सिलेंडर 969.50 रुपये पर मिलेगा और चेन्नई में ऐसे सिलेंडर की कीमत 958 रुपये हो गई है.

क्यों बढ़े एलपीजी के दाम
सिलेंडर के बेस प्राइस में बदलाव और उस पर टैक्स के असर से दाम में बढ़ोतरी हुई है. उल्लेखनीय है कि औसत अंतर्राष्ट्रीय बेंचमार्क दर और विदेशी मुद्रा विनिमय दर के अनुरूप एलपीजी सिलिंडर के दाम तय होते हैं, जिसके आधार पर सब्सिडी राशि में हर महीने बदलाव होता है. जब अंतर्राष्ट्रीय दरों में बढ़ोतरी होती है तो सरकार ज्यादा सब्सिडी देती है, लेकिन टैक्स नियमों के अनुसार रसोई गैस पर जीएसटी की गणना ईंधन के बाजार मूल्य पर ही तय की जाती है. ऐसे में सरकार ईंधन की कीमत के एक हिस्से को तो सब्सिडी के तौर पर दे सकती है, लेकिन टैक्स का भुगतान बाजार दर पर करना होता है इसके चलते कीमतें में बढ़ोतरी होती है.

जून से छठी बार बढ़े दाम
सब्सिडी वाले रसोई गैस सिलेंडर के दाम में जून से यह छठी बढ़ोतरी है. तब से लेकर अब तक दाम 14.13 रुपये बढ़ गए हैं. एलपीजी ग्राहकों को बाजार कीमत पर रसोई गैस सिलेंडर खरीदना होता है. हालांकि, सरकार साल भर में 14.2 किलो वाले 12 सिलेंडरों पर सीधे ग्राहकों के बैंक खाते में सब्सिडी डालती हैं. इंडियन ऑयल कॉर्प (आईओसी) ने बयान में कहा कि 14.2 किलो के सब्सिडाइज्ड एलपीजी सिलेंडर का दाम बुधवार आधी रात से 502.40 रुपये से बढ़कर 505.34 रुपये प्रति सिलेंडर हो जायेंगे. इसके साथ ही ग्राहकों के खातों में ट्रांसफर होने वाली सब्सिडी नवंबर 2018 में बढ़कर 433.66 रुपये प्रति सिलेंडर हो गयी, जो कि अक्टूबर महीने में 376.60 रुपये प्रति सिलेंडर पर थी.