एनजीओ ‘जन शरणम’ ने हर्षोल्लास से मनाया 72वें स्वतंत्रता दिवस

बच्चों की रंगारंग प्रस्तुति ने मोहा सबका मन, पौधे देकर किया सबको सम्मानित

बीसीआर न्यूज़ (अजय शास्त्री/नई दिल्ली): 72वें स्वतन्त्रता दिवस की स्वर्ण बेला पर एनजीओ ‘जन शरणम’ ने देशभक्ति से सराबोर कार्यक्रम ‘आज़ादी आशा की’ का आयोजन किया, जिसमें ‘जन शरणम’ द्वारा समाज के हाशिये पर खड़े परिवारों के बच्चों को शिक्षित करने के साथ ही उन बच्चों की बहुमुखी प्रतिभाओं को विकसित करने के उद्देश्य से एक रंगारन्ग कार्यक्रम तथा फैशन परेड भी आयोजित किया गया।
कार्यक्रम की शुरुआत दीप प्रज्जवल के साथ हुई। उसके बाद बदरपुर के थानाध्यक्ष शोएब अहमद फारूकी, बदरपुर के विधायक नारायण दत्त शर्मा व भाजपा दिल्ली प्रदेश मंत्री बिक्रम बिधूड़ी आदि ने ध्वजारोहण किया। उनके अलावा डीआरयूसीसी मेंबर भारत सरकार ऋचा बशिष्ठ, एसिस्टेंट प्राइवेट सेक्रेटरी भारत सरकार करमवीर यादव ने विशेष अतिथि के रूप में कार्यक्रम की शोभा बढ़ाई। उन्होंने संस्था में पढ़ रहे मेधावी बच्चों को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया व उनके उज्जवल भविष्य की कामना की।
बदरपुर विधायक नारायण दत्त शर्मा ने इस अवसर ‘जन शरणम’ के तीन साल पूरे होने पर बधाई दी और आश्वासन दिया कि वे अपनी सरकार से कहकर संस्था को पूर्ण सहयोग प्रदान करायेंगे।
‘जन शरणम’ की ब्रांड एम्बेस्डर कृष्णा चौधरी, जो कि समाज के लिए प्रेरणास्रोत हैं, उन्होंने कभी भी अपनी कमियों को अपनी कामयाबी के आगे नहीं आने दिया। वे मधुर आवाज की धनी हैं और अपने मुंह से तरह तरह के पेंटिंग व मेहंदी भी लगाती हैं। उन्होंने इस मौके पर देश भक्ति से ओतप्रोत गीत गाये, जिन्हें सुनकर वहां उपस्थित जनसमूह ने उनकी तारीफ की। विधायक महोदय ने उन्हें स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया।
इस मौके पर एसडीएमसी के चेयरमैन के के शुक्ला, प्रख्यात मोटीवेशनल वक्ता डा. पूर्णिमा अग्रवाल, डी एस तंवर पर्यावरणविद एवं समाजसेवी, श्री डी. डी. ध्यानी आदि ‘जन शरणम’ के बच्चों के उत्साहवर्धन हेतु उपस्थित रहे। सभी अतिथियों को एक पौधा व स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया।
कार्यक्रम में आए सभी अतिथियों ने संस्था के बच्चों को उपस्थिति देखकर उनके उज्जवल भविष्य की कामना की और कहा कि यही बच्चे हमारे देश का आने वाला भविष्य है और इस दिशा में ‘जन शरणम’ उनकी जिंदगी को बेहतर बनाने का प्रयास कर रही है।
संस्था के अध्यक्ष रमांशु वर्मा ने बताया कि ‘जन शरणम’ समाज के पिछड़े वर्ग की महिलाओं एवं बच्चों के उत्थान को समर्पित संस्था है जिसने वर्ष 2015 में समाज के अशिक्षित एवं पिछड़े वर्ग की सेवा के उद्देश्य से दिल्ली और उत्तर प्रदेश में अपना सेवा कार्य आरम्भ किया।
सबसे पहले इन क्षेत्रों में अनाथाश्रमों और वृधाश्रमों को आर्थिक व रोजमर्रा की आवश्यकताओं की सहायता के साथ-साथ बच्चों की शिक्षा/मनोरंजन तथा वृद्ध लोगों के साथ बैठकर उनकी समस्याएं सुनकर, उनकी मनोभावनाएँ समझकर उनका आत्मविश्वास और मनोबल बढ़ाने हेतू त्यौहारों पर और प्रत्येक सन्डे मनोरंजन कार्यक्रमों का आयोजन किया।
बच्चों के साथ उनके शैक्षिक एवं व्यक्तित्व सुधार के लिये उन बच्चों के साथ मिलकर कई प्रकार के कार्यक्रम/उत्सवों का आयोजन, तथा NCR के लोगों द्वारा इन बच्चों को समुचित सुविधाएँ प्रदान करवायी गयीं और आज़ ये बच्चे अपना जीवन सार्थक बनाने की दिशा में आगे बढ़ चुके हैं। हमने गत वर्षों में इन बच्चों के साथ शैक्षिक/दैनिक आवश्यकताओं और अन्य योगदान करने के अलावा, उनको दिल्ली जू, म्युसियम तथा ऐतिहासीक स्थानों की मनोरंजक यात्राएं करवाई ज़ो उनके व्यक्तित्व को बहु आयामी बनाने में कारगर सिद्ध हों!
उत्तर प्रदेश और दिल्ली में ‘जन शरणम’ स्कूल ना ज़ा पाने वाले बच्चों के लिये फ्री शिक्षा केन्द्र चला रहा है। साथ ही गरीब महिलाओं को सिलाई-कढाई की ट्रेनिंग भी दी ज़ा रही है, जिसके द्वारा वो आर्थिक रूप से भी स्वतन्त्र हो पायें।
हम उपरोक्त चिन्हित इलाकों में समय समय पर फ्री मेडिकल और स्वास्थ्य केम्प भी लगा रहे हैं। हमारी योजना है की शीघ्र ही भारत के सभी राज्यों मे ऐसे केन्द्र और सेवायें खोले ।
‘जन शरणम’ को विगत 3 वर्षों में कई ‘जन शिक्षा केन्द्र’ के माध्यम से गरीबी की रेखा से नीचे रह रहे 2500 से अधिक बच्चों को साक्षर बनाने में सफलता मिली है।