फिल्म समीक्षा: बजरंगी भाईजान | समीक्षक: अजय शास्त्री

फिल्म समीक्षा: बजरंगी भाईजान
समीक्षक: अजय शास्त्री
डायरेक्टर: कबीर खान
शैली: एक्शन-इमोशनल
संगीत: प्रीतम चक्रवर्ती
कलाकार: सलमान खान, हर्षाली मल्होत्रा, नवाजुद्दीन सिद्दीकी, करीना कपूर खान
रेटिंग: ४ स्टार

सारांश:
फिल्‍म निर्देशक कबीर खान और सलमान खान की जुगलबंदी में बनीं फिल्‍म “बजरंगी भाईजान” सादगी के साथ इंसानी जज्‍बात की कहानी को बयां करती है। पिछले कुछ सालों में सलमान अपने फैंस के बीच दंबग और एक्‍शन हीरों के रूप में नजर आते रहे हैं लेकिन ‘बजरंगी भाईजान’में वे धार्मिक और इमोशनल किरदार के अवतार में हैं। लेकिन यहां यह देखना रोचक होगा कि क्‍या सलमान खान के फैंस उनके इस बदले अंदाज को कितना पसंद कर पाते हैं। फिल्‍म इंटरवल से पहले कुछ स्‍लो है लेकिन फिल्‍म जैसे-जैसे आगे बढ़ती है दर्शक के साथ जुड़ती जाती है, और इसका अंत तो और भी बेहतरीन है। इन सब बातों के साथ फिल्‍म मनोरंजन का फुल धमाल है और सलमान ने इस बार भी अपने फैंस का पूरा ध्‍यान रखा है।फिल्‍म की सबसे खास बात सईदा के किरदार में 6 साल की हर्षाली मल्‍होत्रा का मूक अभिनय है जो आपका दिल जीत लेगा। फिल्‍म “बजरंगी भाईजान” की कहानी में ऐसा कुछ विशेष नहीं है जो आपको नया लगे,लेकिन दिल से कहानी कहने की कला में कबीर खान ने उम्‍दा काम करते हुए मनोरंजन के साथ ही एक संदेश देने का बेहतरीन काम किया है, इस बात के लिए आप कबीर खान को साधुवाद दे सकते हैं।

निर्देशन:
न्‍यूयॉर्क और एक था टाइगर जैसी सफल फिल्‍म से अपनी पहचान बनाने वाले कबीर खान ने ‘बजरंगी भाईजान’ की कहानी को एक लय के साथ बुना है, बेशक नयापन नहीं है, लेकिन रिकार्ड कहानी कहने का उनका अंदाज शानदार है। सलमान को लोग दबंग और एक्‍शन रोल में देखने के आदी हो गए थे लेकिन कबीर खान ने उनको इमोशनल रोल में बेहद शानदार तरीके से पेश किया है यह ठीक वैसा ही है जैसे क्रिकेट में विस्‍फोटक अंदाज के पहचाने जाने वाले सहवाग अपनी पारी में बेहद सधे अंदाज में शुरु करे और कुछ बेहतरीन शॉट खेलकर क्रिकेट की एक शानदार पारी खेल दें। यहां सलमान भी कुछ इसी अंदाज में हैं, जी हां दबंग सलमान को आप भावुक रोल में देखकर हैरान रह जाएंगे।

एक्टिंग:
कबीर खान ने फिल्‍म के कलाकारों से बेहतरीन काम लिया है। आपको कहानी पुरानी लग सकती है लेकिन सलमान,हर्षाली और नवाजुद़दीन सिद़दीकी का अभिनय जीवंत है, जो आपका दिल जीत लेने के लिए काफी है। सलमान इससे पहले भी इमोशनल रोल करते रहे हैं लेकिन दंगब की सफलता के बाद से दर्शक उनको एक्‍शन में देखना पसंद करने लगे थे लेकिन सलमान ने यहां अपनी इमेज बदलने का प्रयास किया हैं। सबसे प्रभावी अभिनय हर्षाली मल्‍होत्रा ने किया है और अपने मूक किरदार में अपने चेहरे पर जिस तरह से खुशी और गम के पलों को उन्‍होंने परदे पर उतारा है वह कमाला का है। करीना कपूर ने अपने अभिनय के साथ न्‍याय किया है और सलमान के साथ उनकी जोड़ी बड़े परदे पर हिट साबित पहले भी होती रही है।

गीत-संगीत :
फिल्‍म में गीत-संगीत मनोरंजन प्रधान है और गीतों के बोल युवाओं की पसंद को ध्‍यान में रखकर लिखे गए है, “सेल्‍फी ले ले” तो पहले ही यूथ की जुबां पर चढ़ चुका है। सलमान की फिल्‍मों में यूं तो एक दो बिंदास गीत जरूर रहता है लेकिन “बजरंगी भाईजान” में आपको इस बार आज रंग है जैसा खूबसूरत मधुर गीत भी सुनने को मिलता है।
बॉक्‍स ऑफिस पर साल की सबसे बड़ी फिल्‍म में से एक “बजरंगी भाईजान” देखने के लिए सलमान के फैंस को तो जरूर जाना चाहिए लेकिन हर्षाली मल्‍‍होत्रा के शानदार अभिनय के लिए इस फिल्‍म को देखने आप जा सकते हैं।

Category:

Movies Review