बुडापेस्ट में भारतीय फिल्म समारोह हंगरी में राहुल मित्रा, इम्तियाज अली और उमेश शुक्ला होंगे शामिल

बीसीआर न्यूज़ (अजय शास्त्री/नई दिल्ली): भारतीय सिनेमा अपने करिश्मे से दुनिया को प्रभावित कर रहा है। भारतीय सिनेमा के आकर्षण में बंधने वाला नया देश है हंगरी। इसी का नतीजा है कि भारतीय दूतावास ने इंडियन फिल्म फेस्टिवल वर्ल्डवाइड (आईएफएफडब्ल्यू) के सहयोग से 4-10 अक्टूबर, 2018 के बीच हंगरी की राजधानी बुडापेस्ट में एक विशाल भारतीय फिल्म समारोह आयोजित करने की योजना बनाई है।

BUDAPEST

इंडियन फिल्म फेस्टिवल हंगरी भारतीय फिल्म उद्योग की वैसी फिल्मो, जिन्होंने लोगों को एक नई राह दिखाई है, को कैप्टन राहुल बाली ने बहुत ही सावधानी से चयनित किया है, जिनका हंगरी में भारतीय दूतावास के संरक्षण में भारतीय फिल्म समारोहों में प्रदर्शन किया जाएगा।
दरअसल, हंगरी में आयोजित हो रहे इस इंडियन फिल्म फेस्टिवल का मकसद भारत और हंगरी के बीच कला और संस्कृति को बढ़ावा देना है, क्योंकि भारतीय फिल्में की अपनी एक खास चमक और रंग होती है। भारतीय सिनेमा एक ऐसा प्रतिष्ठित ब्रांड माना जाता है, जिसका लक्ष्य लोगों के बीच खुशियां फैलाना है, क्योंकि इसमें शामिल गाने, नृत्य और संगीत मानव जीवन के कैनवास पर बड़े पैमाने पर प्यार, बंधन और विभिन्न मानवीय भावनाओं एवं गुणों को चित्रित करते हैं। बुडापेस्ट के दर्शकों को इन भारतीय फिल्मों के माध्यम से भारत के महान फिल्मकारों की रचनात्मक प्रतिभा से पैदा हुए कुछ महान कार्यों को देखने का अवसर मिलेगा, जो दोनों देशों के बीच दोस्ती के बंधन को मजबूत करने में मददगार साबित होगा। इंडियन फिल्म फेस्टिवल में भारत की सात फिल्मों का प्रदर्शन किया जाएगा, जिनमें ‘बाहुबली : द बिगनिंग’, ‘बाहुबली : द कॉनक्लूजन’, ‘साहेब बीवी और गैंगस्टर 3’, ‘102 नॉट आउट’, ‘जब हैरी मेट सेजल’, ‘रॉन्ग साइड राजू’ और ‘मुल्क’ शामिल होंगी।
महोत्सव में हंगेरियन फिल्म जगत के चुनिंदा सितारों के साथ भारतीय सिनेमा के प्रतिनिधि के तौर पर पुरस्कार विजेता फिल्म निर्माताओं राहुल मित्रा, इम्तियाज अली और उमेश शुक्ला शामिल होंगे।
हंगरी में भारत के राजदूत राहुल छाबरा ने कहा, ‘भारत और हंगरी के फिल्म उद्योगों के बीच सिनेमा की आपसी समझ को विस्तार देने के लिए इंडियन फिल्म फेस्टिवल एक अनूठा मंच बनने के लिए तैयार है। यह फेस्टिवल निश्चित रूप से दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय सहयोग के नए मार्ग खोलेंगे और निश्चित रूप से हंगरी में भारत के प्रति एक उदारता पैदा करेगा।’
इंडियन फिल्म फेस्टिवल हंगरी का भव्य उद्घाटन 4 अक्टूबर को बुडापेस्ट के प्रतिष्ठित पुस्किन मोजी में भरपूर जश्न के बीच रेड कार्पेट स्वागत से होगा, जिसमें इंडो-हंगरी संगीत कार्यक्रम, नृत्य प्रदर्शन और कई इंटरैक्टिव व मनोरंजक कार्यक्रम शामिल होंगे।
इस अवसर पर आईएफएफडब्ल्यू के संस्थापक और क्यूरेटर कैप्टन राहुल बाली ने कहा, ‘हमारा प्रयास इंडियन फिल्म फेस्टिवल हंगरी सिनेमा के माध्यम से बुडापेस्ट में भारत की खुशबू फैलाने का है। चूंकि सिनेमा कला का एक अनूठा रूप है, जो इंटरैक्टिव है, हम ऐसे महोत्ससव की प्रतीक्षा करते हैं, क्योंकि ये बहुत सारे सहयोगों को बढ़ावा देते हैं।