20 विधायकों की सदस्यता रद्द, हाई कोर्ट में करेंगे अपील आप नेता- सौरभ भारद्वाज

बीसीआर न्यूज़ (नई दिल्ली): दिल्ली में आम आदमी पार्टी के विधायक सौरभ भारद्वाज ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर विधायकों की सदस्यता रद्द किए जाने की ख़बरों पर कहा, ”23 जनवरी को रिटायर हो रहे मुख्य चुनाव आयुक्त अचल कुमार जोति प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का कर्ज़ चुकाना चाहते हैं. हम हाईकोर्ट में अपील करेंगे.”

‘आप’ नेता ने आगे कहा, ”क्या कभी इन विधायकों के क्षेत्र में किसी ने देखा है कि इनके पास सरकारी गाड़ी है, सरकारी बंगला है या किसी का बैंक स्टेटमेंट देखा है? अभी तक मामले में विधायकों को अपना पक्ष रखने तक का मौका नहीं दिया गया है.”

दरअसल मीडिया में ऐस ख़बरें आ रही हैं कि चुनाव आयोग ने राष्ट्रपति के पास ये सिफ़ारिश भेजी है कि ‘आप’ के 20 विधायकों की सदस्यता इसलिए रद्द कर दी जाए, क्योंकि ये लोग लाभ के पद पर हैं. इन 20 विधायकों पर संसदीय सचिव का पद है.

आम आदमी पार्टी के 21 विधायकों पर लाभ के पद पर होने का आरोप था. लेकिन जरनैल सिंह के विधानसभा से इस्तीफा देने के बाद ये संख्या घटकर 20 हो गई.

 आरोप ये है कि किसी एक आदमी ने राष्ट्रपति के पास ये शिकायत की थी कि 21 आप विधायकों के पास लाभ का पद है.

 लाभ के पद का आरोप ग़लत है. अभी तक इस मामले में चुनाव आयोग में कोई सुनवाई शुरू नहीं हुई है. चुनाव आयोग में ये चर्चा हुई थी कि क्या सुनवाई हो सकती है या नहीं. तब ये फैसला हुआ था कि हां मामले की सुनवाई की जाएगी.

 जिन विधायकों की शिकायत हुई है, क्या उन लोगों के पास सरकारी बंगला, गाड़ी है? अभी तक विधायकों को अपना पक्ष रखने का मौका नहीं दिया गया.

 मोदी की गुजरात सरकार में प्रमुख सचिव रह चुके अचल कुमार जोति का 23 जनवरी को जन्मदिन है. सोमवार को वो रिटायर होने वाले हैं. जोति जी हैं, जो पूरा अकेले इस मामले में फ़ैसला देना चाह रहे हैं. वो अपना फ़ैसला इसलिए थोपना चाह रहे हैं, क्योंकि वो रिटायर हो रहे हैं.

 अब तक सुनवाई ये हुई थी कि ये लोग कभी संसदीय सचिव थे ही नहीं, तो क्या इन लोगों पर संसदीय सचिव होने का केस चलाया जा सकता है. आप मोदी को कर्ज चुकाना चाहते हैं तो चुनाव आयोग जैसी संवैधानिक संस्थान को गिरवी रखकर साजिश कर रहे हैं.

जब माननीय उच्च न्यायलय ने यह कह दिया था कि ये लोग संसदीय सचिव थे ही नहीं तो उसपर चुनाव आयोग जाँच कैसे कर सकता है.